North India Weather Updates: पूरा उत्तर भारत हाड़ कंपाने वाली सर्दी के कारण कांप रहा है। हालांकि आज दिल्ली समेत कई राज्यों में हल्की बूंदा-बादी हुई है, जिसकी वजह से कोहरे और शीतलहर की स्थिति में कुछ सुधार नजर आ रहा है लेकिन भारतीय मौसम विभाग ने अपने ताजा अपडेट में कहा है कि एक बार फिर से 15-16 जनवरी को मौसम में परिवर्तन हो सकता है और शीतलहर का प्रकोप देखने को मिलेगा। दिल्ली की IMD वैज्ञानिक सोमा सेन रॉय ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि उत्तर भारत में 15 जनवरी से फिर से शीतलहर की स्थिति बनती नजर आ रही है और इस दौरान कोहरे का कोहराम यूं ही जारी रहेगा।

उन्होंने कहा, ‘अभी उत्तर भारत में ठंड कम हो गई है. 2 दिन बाद पूरे उत्तर भारत में तापमान में फिर से कमी आएगी. पंजाब, हरियाणा, पश्चिमि राजस्थान में सबसे ज्यादा तापमान में कमी होगी. धीरे-धीरे पूर्वी राज्यों में तापमान में कमी आएगी. शीतलहर दोबारा से आने की संभावना है.’

वैज्ञानिक रॉय ने आगे कहा, ’15 जनवरी से शीतलहर की स्थिति बन सकती है. आने वाले 2-4 दिन हवाएं तेज होने के कारण कोहरे की स्थिति ज्यादा खराब नहीं होगी. 15-16 जनवरी के आसपास घने कोहरे की भी आशंका है.’ तापमान में मौसमी वृद्धि को देखते हुए उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग शीत लहर की स्थिति बन सकती है.
आईएमडी की ओर से जारी एक बुलेटिन के अनुसार, दिल्ली और उसके पड़ोसी राज्यों में कुछ इलाकों में 15 जनवरी से एक बार फिर शीतलहर चलने की संभावना है. मौजूदा पश्चिमी विक्षोभ के कारण तेज हवाएं चलने से पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कोहरे से लोगों को राहत मिलेगी, लेकिन पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार में घने से बहुत घने कोहरे की परत छाई रहेगी.

दिल्ली का न्यूनतम तापमान 9.3 डिग्री सेल्सियस
मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, दिल्ली में बृहस्पतिवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 9.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. अधिकतम तापमान के 19 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में बृहस्पतिवार को सुबह नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 358 दर्ज किया गया.

By VASHISHTHA VANI

हिन्दी समाचार पत्र: Latest India News in Hindi, India Breaking News in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *