• राजस्थान से रामस्वरूप रावतसरे की रिपोर्ट

जयपुर: राजस्थान में पारा माइनस 7 डिग्री पर पहुंचा नल का पानी जमा; लद्दाख से भी ठंडा माउंट आबू, 28 साल का रिकॉर्ड टूटा राजस्थान में आज कड़ाके की ठंड ने पूरे प्रदेश को ठिठुरा दिया। जयपुर के जोबनेर, सीकर के फतेहपुर, माउंट आबू के अलावा चूरू जिले में आज तापमान माइनस में चला गया। माउंट आबू में पारा -7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। माउंट आबू लद्दाख, मनाली से भी ठंडा रहा। यहां के मैदानी इलाकों और खेतों में बर्फ जम गई। लोगों के हाथ-पांव ठंड के कारण सुन्न हो गए।

बर्फ जमा देने वाली इस सर्दी ने किसानों की टेंशन भी बढ़ा दी है। रबि की फसल पर पाला पड़ने की आशंका बढ़ गई है। मौसम विभाग के मुताबिक 19 जनवरी को एक वेस्टर्न डिर्स्टबेंस उत्तर भारत में आएगा। इसके बाद लोगों को इस कड़ाके की सर्दी और बफीर्ली हवाओं से राहत मिलेगी। मौसम केंद्र जयपुर और स्थानीय रिपोर्ट्स के मुताबिक आज 15 शहरों में न्यूनतम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस से नीचे दर्ज हुआ। हिल स्टेशन माउंट आबू में तापमान -7 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे ठंडा इलाका रहा। इसी महीने 5 जनवरी को माउंट आबू में तापमान -6 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था। यहां नक्की झील के किनारे पानी जम गया। इसके अलावा यहां की सबसे ऊंची पहाड़ की चोटी गुरु शिखर पर भी बर्फ जम गई।

माउंट आबू में पारा माइनस में पहुंच गया। यहां पेड़ पर भी बर्फ जम गई।

आबू का आज का टेम्प्रेचर पहाड़ी इलाके मनाली (-3.5), शिमला (2.8), कुल्लू (0.3) और लद्दाख के गिलगिट (-3.5) से भी ज्यादा ठंडा रहा। इसी तरह आज जयपुर के जोबनेर में पारा -4.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। यहां एक दिन पहले मिनिमम टेम्प्रेचर 3.5 डिग्री सेल्सियस था। 7 डिग्री सेल्सियस तापमान गिरने से जोबनेर के आसपास खेतों में बर्फ जम गई। सिंचाई करने वाले पाइपों में पानी जम गया। जोबनेर में इस सीजन में ये पांचवां दिन है, जब पारा माइनस में दर्ज हुआ और ये इस सीजन का सबसे कम तापमान दर्ज हुआ।

सीकर के फतेहपुर में खेत की फेंसिंग पर ओस की बूंदें जम गईं।

  • फतेहपुर में सीजन की सबसे सर्द रात

सीकर के फतेहपुर में आज दूसरे दिन तापमान माइनस में रहा। यहां न्यूनतम तापमान एक डिग्री सेल्सियस गिरकर माइनस 4.7 पर दर्ज हुआ, जो इस सीजन का सबसे कम तापमान रहा। यहां भी खेतों में खड़ी फसलों पर बर्फ जम गई। इससे पहले कल फतेहपुर में पारा -3.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।

फतेहपुर में पारा माइनस में जाने कारण नल से निकलता पानी भी जम गया।

  • चूरू में 12 साल में दूसरी बार पारा माइनस 2 से नीचे

रेगिस्तानी एरिया चूरू जितना तेजी से गर्म होता है उतना ही ठंडा भी होता है। चूरू में भी आज दूसरे दिन टेम्प्रेचर माइनस में दर्ज हुआ। यहां आज न्यूनतम तापमान -2.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। पिछले 12 साल में दूसरी बार है जब चूरू में जनवरी के महीने में तापमान -2 से नीचे गया हो। इससे पहले 3 जनवरी 2014 को -2.7 डिग्री सेल्सियस तापमान गया था। यहां तापमान सामान्य से 7 डिग्री सेल्सियस नीचे जा चुका है।

चूरू के सरदारशहर में खेत में खड़ी फसल पर पानी जम गया।

  • 9 डिग्री सेल्सियस तक गिरा रात का तापमान

राजस्थान में बीती रात सर्दी इतनी जबरदस्त रही कि मिनिमम टेम्प्रेचर शहरों में 9 डिग्री सेल्सियस तक गिर गए। टोंक में एक दिन पहले मिनिमम टेम्प्रेचर 11.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जो आज गिरकर 2.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। सीकर, भीलवाड़ा में तापमान जमाव बिंदु के पास 0.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। सीकर शहर के आसपास के एरिया में ओस की बूंदें जम गईं। इधर, रेगिस्तानी इलाके जैसलमेर, बाड़मेर, जोधपुर में आज सीजन का सबसे कम तापमान रिकॉर्ड हुआ। जोधपुर में तापमान 4.8, जैसलमेर में 2.3, बाड़मेर में 6 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ यहां कल सीजन की सबसे सर्द रात रही।

By VASHISHTHA VANI

हिन्दी समाचार पत्र: Latest India News in Hindi, India Breaking News in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *