विकलांगो के लिए राशन कार्ड और घरकुल योजना के नियम मे बदलाव कर मुख्य सुविधा दे अचलपुर विकलांग जनशक्ति संगठन की ओर से तहसीलदार मा. मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को ज्ञापन दिया गया । दिव्यांग जनशक्ति संघ महाराष्ट्र के संस्थापक अध्यक्ष प्रफुल्ल कु-हेकर के मार्गदर्शन में अचलपुर शाखा की ओर से अचलपुर मंडल संपर्क प्रमुख अनिल चिट्टे के नेतृत्व में महाराष्ट्र राज्य के मुख्यमंत्री एक तरफ महाराष्ट्र राज्य में दिव्यांगो का पहला स्वतंत्र मंत्रालय बनने से दिव्यांग भाई खुश है । लेकिन मौजूदा स्थिति को देखते हुए उन्होंने मांग की है कि केंद्र सरकार द्वारा लागू घरकुल योजना से जुड़े नियमों और शर्तों में ढील दी जाए और लोगों की बुनियादी जरूरतों को पूरा किया जाए. दिव्यांग भाइयों को दिया जाए । चूंकि अधिकांश परिवारों में विकलांग व्यक्ति परिवार का मुखिया होता है इसलिए विकलांग व्यक्ति अभी भी मासिक राशन से वंचित है । साथ ही नगर निगम सीमा में विकलांग लोगों के लिए योजना के तहत सरकार द्वारा पीआर कार्ड की आवश्यकता के कारण विकलांग व्यक्ति घरकुल योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं । तहसील कार्यालय के साथ-साथ नगर परिषद के कई चक्कर लगाने से विकलांगजन शासन की योजना से वंचित हो जाते हैं, इससे विकलांग एवं माननीयों में अवसाद उत्पन्न हो गया है । मुख्यमंत्री एकनाथ जी शिंदे को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है। नहीं तो संगठन ने चेतावनी दी है कि दिव्यांग जनशक्ति संघ द्वारा जगह-जगह धरना-प्रदर्शन किया जाएगा।इस समय संगठन के अनिल चित्ते, शरद वानखेडे, प्रवीण हिंगे हैं । दिनेश गाडगे श्याम सिंह चौहान मोहम्मद अजहर दिनेश पोटे मोहम्मद अनवर मोहम्मद अशपक नारायण हडले व आदि पदाधिकारी व विकलांग भाई प्रमुखतः से मौजूद थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *