नई दिल्ली: कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव हारे शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने कहा कि वे परिणाम में बिल्कुल दुखी नहीं हैं. यह शुरुआत से ही सुनिश्चित था कि पार्टी मेरे प्रतिद्वंद्वी मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) के पीछे खड़ी होगी. मैंने इस बारे में सोनिया गांधी से बात की तो उन्होंने कहा- इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं कि पार्टी सदस्यों ने इस तरह से वोट दिया. ये वोट उन्होंने स्वयं दिया.

यह भी पढ़ें: Mallikarjun Kharge को लेकर Mayawati का कांग्रेस पर हमला

गौरतलब है कि जबसे मल्लिकार्जुन खड़गे कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष पद का चुनाव जीते हैं, तभी से थरूर गुट आरोप-प्रत्यारोप लगा रहा है. थरूर के मुख्य चुनाव एजेंट सलमान सोज ने पार्टी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री (Madhusudan Mistry) को पत्र लिखा था. इसमें उन्होंने कहा था कि चुनाव के तथ्य उचित नहीं हैं और यूपी में चुनाव प्रक्रिया में विश्वसनीयता की कमी है. इस बात को लेकर मिस्त्री जबरदस्त नाराज हुए थे. उन्होंने इस मुद्दे पर पलटवार भी किया था. उन्होंने कहा था कि कांग्रेस के इस आंतरिक चुनाव की रिपोर्ट प्रदेश निर्वाचन अधिकारी और सचिव ने तैयार की है.


इतने वोटों से जीते थे खड़गे: बता दें, चुनाव जीतने के बाद मल्लिकार्जुन खड़गे 26 अक्टूबर को अध्यक्ष का पदभार संभालेंगे. इस चुनाव में उनका मुकाबला शशि थरूर से था. उन्होंने थरूर को 6,825 वोटों से हरा दिया. खड़गे को 7,897 और थरूर को 1,072 वोट मिले. 24 साल बाद गांधी परिवार के बाहर का कोई नेता कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष बना है.

By VASHISHTHA VANI

हिन्दी समाचार पत्र: Latest India News in Hindi, India Breaking News in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *