जयपुर: अजमेर- फेमस पुष्कर फेयर में चल रहे कल्चरल प्रोग्राम के तहत नॉर्थ-वेस्ट जोन के 8 राज्यों के कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति से मंत्रमुग्ध कर दिया। राज्यों के सांस्कृतिक विरासत से जुड़े गीत संगीत पर देशी-विदेशी टयूरिष्ट झूम उठे। संगीत की धुन पर शिव तांडव, छपली, चरी व लावणी सहित नृत्य ने समा बांध दिया।

मेला मैदान स्टेडियम पर पर्यटन विभाग की ओर से नॉर्थ-वेस्ट जोन के कलाकारों ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी। कार्यक्रम की शुरुआत हरियाणा के कलाकारों ने भगवान शिव की आराधना का नृत्य प्रस्तुत कर किया। हरियाणा के कलाकारों ने ही फाग, बम लहरी व घूमर नृत्य, हिमाचल के कलाकारों ने नाटी व शिव तांडव की प्रस्तुति देकर मंत्रमुग्ध कर दिया। कश्मीर की नृत्यांगनाओं ने कश्मीर का रॉफ लोक नृत्य प्रस्तुत किया। राजस्थान के कलाकारों ने चरी व चकरी नृत्य प्रस्तुत करके दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। पगड़ी पहने पंजाब के कलाकारों ने ढोलक की थाप पर नृत्य, महाराष्ट्र के कलाकारों ने कोहली व लावणी, उत्तराखंड से आए कलाकारों ने छपली नृत्य प्रस्तुत किया। इस दौरान तालियों की गड़गड़ाहट से मेला मैदान गूंज उठा।

दुनियाभर में फेमस पुष्कर मेले में खेलों का आगाज सितोलिया और फुटबॉल मैच हुआ। रेत में गिरते-पड़ते देशी-विदेशी पर्यटकों के बीच मैच हुआ। पहला गोल करने वाली इंडियन टीम आखिर में एक गोल से मैच हार गई। विदेशी मेहमानों ने मैच जीतकर खुशी जताई। इस दौरान सातोलिया, मांडना सहित अन्य प्रतियोगिताओं में भी खिलाड़ियों ने खासा उत्साह दिखाया। विदेशियों में स्विटजरलैंड, फ्रांस, नागलेंड, थाईलेंड, जर्मनी, स्पेन, यूके के खिलाड़ी शामिल थे। इससे पहले उपखंड अधिकारी सुखराम पिंडेल ने फुटबॉल मैच का उदघाटन किया।

सवा लाख दीपकों से महाआरती के साथ ही पुष्कर मेले का मंगलवार से आगाज हो गया। पहली बार सरोवर के घाटों पर अयोध्या की तर्ज पर दीपक जलाए गए। मेले की शुरुआत भी सुबह के बजाय शाम को की गई। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने महाआरती करके मेले की शुरुआत की। हाल के सालों में ये भी पहली बार हुआ की मुख्यमंत्री ने पुष्कर मेले का झंडारोहण किया।

अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर फेमस पुष्कर फेयर का रंग जम गया है। पुष्कर में चहुंओर रौनक नजर आ रही है। आकर्षक सजावट भी की गई है। यहां पहुंचे देशी-विदेशी ट्यूरिष्ट राजस्थानी रंग में नजर आ रहे हैं। महिला ट्यूरिष्ठ शृंगार कर ऊंटों पर बैठी, वहीं अन्य लोगों ने भी राजस्थानी ड्रेस पहनकर फोटो खिंचवाए। इस बार पशु मेला नहीं भरने से देशी-विदेशी ट्यूरिष्ट को ऊंट-घोड़ों की कमी खली और मायूस नजर आए। वहीं रात को मेला ग्राउण्ड स्टेज पर कल्चरल परफॉर्मेंस में गीतों व नृत्यों पर जमकर झूमे।

शनिवार 5 नवम्बर को सुबह 8 बजे वाटर वर्क्स पम्प हाउस पर सैण्ड आर्ट, सुबह 9 बजे मेला ग्राउण्ड पर लगान स्टाइल क्रिकेट मैच, सुबह 11 से सायं 8 बजे तक शिल्पग्राम पर हैंडीक्राप्ट बाजार, सुबह 11 बजे मेला ग्राउण्ड पर मूंछ प्रतियोगिता, सुबह 11.30 बजे मेला ग्राउण्ड पर पगड़ी और तिलक प्रतियोगिता विदेशी पर्यटकों द्वारा, दोपहर एक बजे मेला ग्राउण्ड इंटर पंचायत समिति ग्रामीण खेल प्रतियोगिता फाइनल, सायं 6 बजे मेला ग्राउण्ड स्टेज पर वॉइस ऑफ पुष्कर लोकल आर्टिस्ट द्वारा एवं पुष्कर सरोवर घाट पर महा आरती तथा सायं 7 बजे मेला ग्राउण्ड पर कल्चरल परफॉर्मेंस गुलाबों सपेरा ग्रुप द्वारा होगा।

रविवार 6 नवम्बर को सुबह 6.30 बजे सांझी छत पर नेचर वॉक, सुबह 8 बजे वाटर वर्क्स पम्प हाउस पर सैण्ड आर्ट, सुबह 10.30 बजे मेला ग्राउण्ड पर मटका रेस महिलाओं द्वारा, सुबह 11 बजे से सायं 8 बजे तक शिल्पग्राम पर हैण्डीक्राप्ट बाजार, सुबह 11.30 बजे से मेला ग्राउण्ड पर म्यूजिकल चेयर प्रतियोगिता महिलाओं द्वारा, सायं 4 से 7 बजे वाटर वर्क पम्प हाउस पर सैण्ड आर्ट प्रतियोगिता, सायं 6 बजे मेला ग्राउण्ड स्टेज पर वॉइस ऑफ पुष्कर लोकल आर्टिस्ट द्वारा एवं पुष्कर सरोवर घाट पर महा आरती तथा सायं 7 बजे मेला ग्राउण्ड स्टेज पर बेस्ट ऑफ राजस्थान के तहत विविध राजस्थानी नृत्यों व कलाओं के आयोजन होंगे।

सोमवार 7 नवम्बर को सुबह 8 बजे वाटर वर्क्स पम्प हाउस पर सैण्ड आर्ट, रात 10.30 बजे मेला ग्राउण्ड पर फोटोग्राफी प्रतियोगिता, सुबह 11 से सायं 8 बजे तक शिल्पग्राम पर हैण्डीक्राप्ट बाजार, सायं 6 बजे पुष्कर सरोवर घाट पर महा आरती, सायं 7 बजे मेला ग्राउण्ड पर बॉलीवुड नाइट एवं आतिशबाजी होगी।

मंगलवार 8 नवम्बर को सुबह 8 बजे वाटर वर्क पम्प हाउस पर सैण्ड आर्ट, सुबह 9 बजे मेला ग्राउण्ड पर समापन समारोह के तहत मेगा कल्चरल इवेंट, पुरस्कार वितरण, ग्रुप डांस, कला जत्था, जेल और पुलिस बैण्ड, मटका रेस, बोरी रेस, स्पून रेस, टग ऑफ वार आदि के विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा। सुबह 11 से 8 बजे तक शिल्पग्राम पर शिल्पग्राम हैण्डीक्राप्ट बाजार लगेगा एवं सायं 6 बजे पुष्कर घाट पर महा आरती होंगी।

By VASHISHTHA VANI

हिन्दी समाचार पत्र: Latest India News in Hindi, India Breaking News in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *