मुम्बई। मलाड (पश्चिम) में बड़ी संख्या में अनधिकृत निर्माण बिना अनुमति के हो रहे हैं। खुद पी/उत्तर मंडल के भ्रष्ट अधिकारी ऐसे निर्माणों को समर्थन दे रहे हैं।

  • ठेकेदारों से पैसे लेकर अनधिकृत निर्माण को बढावा दिया जा रहा है!

महाराष्ट्र क्षेत्रीय नगर नियोजन अधिनियम 1966, एवं नगरपालिका अधिनियम 1888 के नियमों को तोड़ते हुए खाली प्लाटों पर तीन मंजिला मकान, भवन, बंगला, होटल, चाल आदि का निर्माण जोर शोर से किया जा रहा है।

  • एनडी जोन, सी आर जेड झोन कलेक्टर लेंड पर अवैध अतिक्रमण बढते जा रही हैं!
  • समय-समय पर पत्र व्यवहार के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जाती है।

साजिश रची जा रही है कि नोटिस भेजकर कार्रवाई की गई है। पी/उत्तरी मंडल के भ्रष्ट अधिकारी गरीबों के घरों पर हथौड़ा चलाते हैं लेकिन अमीर ठेकेदार उन्हें बरकत देकर भारी आर्थिक लाभ कमा रहे हैं। ठेकेदार राहिल शेख, बबलू वेल्डर, अशोक पाटिल, मयूर केनी, बाबू पाटिल, पल्लाद पाटिल, ओल्विन, सचिन पाटिल, नरसिम, ठेकेदारोने पी/उत्तर मंडल भवन अधिकारी को खरीद लिया है।

सामाजिक कार्यकर्ता सम्राट बागुल ने समय-समय पर प्रशासन से पत्राचार किया है। यहां तक ​​कि मंत्रालय द्वारा भेजे गए अनुवर्ती पत्र को भी पी/उत्तर डिवीजन के भ्रष्ट अधिकारियों द्वारा नजरअंदाज कर दिया गया और झूठा जवाब दिया गया कि कार्रवाई की गई है।

डी. ओ. राजन प्रभु। एई अनिल पुणतांबेकर, एई प्रवीण मुलूक के आशीर्वाद से अनधिकृत निर्माण हो रहे हैं और सम्राट बागुल ने नगर आयुक्त से ऐसे अधिकारियों को तत्काल काम से बर्खास्त करने की मांग की है.

By VASHISHTHA VANI

हिन्दी समाचार पत्र: Latest India News in Hindi, India Breaking News in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *