Maharashtra News: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बुधवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) विधायक हसन मुश्रीफ (Hasan Mushrif) और अन्य के खिलाफ धनशोधन जांच के तहत महाराष्ट्र में कई परिसरों पर छापेमारी की. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. ऐसा माना जा रहा है कि ये छापे मुश्रीफ से जुड़ी कुछ चीनी मिलों के संचालन में कथित अनियमितताओं से संबंधित जांच से जुड़े हैं. उन्होंने कहा कि मुंबई, पुणे और कोल्हापुर में स्थित परिसरों में ईडी अधिकारियों द्वारा सुबह लगभग साढ़े छह बजे से तलाशी ली जा रही है. मुश्रीफ (68) कोल्हापुर की कागल सीट से एनसीपी विधायक हैं. वह पार्टी के उपाध्यक्ष भी हैं.

मुश्रीफ (Hasan Mushrif) ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो संदेश पोस्ट कर अपने समर्थकों से उनके रिश्तेदारों, बेटी और कुछ सहकारी चीनी मिलों के परिसरों में की जा रही कार्रवाई में बाधा नहीं डालने के लिए कहा है. बाद में उन्होंने पत्रकारों से कहा कि आयकर विभाग ने 2019 में उनके खिलाफ छापेमारी की थी, जिसके कारण उनके खिलाफ दो आरोप लगे थे- एक स्वामित्व और कुछ कंपनियों से संबंध होने के बारे में और दूसरा बेनामी संपत्ति से संबंधित था.

उन्होंने दावा किया कि दोनों मामलों में अदालतों ने कार्रवाई पर रोक लगा दी है. सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल फैसला सुनाया था कि बेनामी लेन-देन विरोधी कानून को पूर्वव्यापी रूप से लागू नहीं किया जा सकता है. केंद्र सरकार ने हाल ही में इस आदेश के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर की है. बीजेपी के नेता किरीट सोमैया ने 2021 में आरोप लगाया था कि पूर्व ग्रामीण विकास मंत्री (मुश्रीफ) अपने परिवार के सदस्यों और कंपनियों के माध्यम से ‘बेनामी’ संस्थाओं पर अपना स्वामित्व बनाकर भ्रष्ट आचरण में लिप्त हैं.

एनसीपी ने तब इन आरोपों को खारिज किया था. मुश्रीफ ने पूछा कि क्या ईडी की कार्रवाई का उद्देश्य ‘विशेष जाति और समुदाय’ के लोगों को निशाना बनाना है. उन्होंने कहा, ‘‘पहले (एनसीपी नेता) नवाब मलिक थे, फिर मैं. किरीट सोमैया का कहना है कि कांग्रेस नेता असलम शेख के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है. मुझे आश्चर्य है कि क्या उन्होंने किसी विशेष जाति या समुदाय को निशाना बनाने का फैसला किया है.’’ मुश्रीफ ने ईडी की कार्रवाई के विरोध में एनसीपी कार्यकर्ताओं से कागल में बंद नहीं करने की अपील की. उन्होंने कहा कि इसी तरह की छापेमारी पहले भी एक केंद्रीय एजेंसी द्वारा की गई थी, लेकिन कुछ भी सामने नहीं आया.

By VASHISHTHA VANI

हिन्दी समाचार पत्र: Latest India News in Hindi, India Breaking News in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *