महाराष्ट्र (Maharashtra) के गढ़चिरौली जिले में शनिवार को पुलिस के साथ मुठभेड़ में 26 नक्सली मारे गए. इस मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों में 50 लाख का इनामी कमांडर मिलिंद तेलतुंबड़े भी मारा गया. इनामी कमांडर मिलिंद तेलतुंबड़े (Prize Commander Milind Teltumbde), देश के चुनिंदा आला माओवादी के जो बड़े ऑपरेटर माने जाते हैं, उनमें से एक है. माओवादी संगठन के सर्वोच्च सेंट्रल कमेटी का सदस्य था. उसे सहयाद्री या पीपक इन दो नामों से भी जाना जाता था. 

इनामी कमांडर मिलिंद तेलतुंबड़े (Prize Commander Milind Teltumbde) की शहर नक्सल और जंगलों में कार्यरत काडर दोनों पर मजबूत पकड़ थी. पश्चिमि भारत के माओवादी ऑपरेशंस और संगठन की देख-रेख करते इनामी कमांडर मिलिंद तेलतुंबड़े ने एमएमसी गुरिल्ला झुंड की संकल्पना देश में विकसित की थी. इसकी पत्नी एंजला सोनटक्के भी माओवादी संगठनों में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार हो चुकी है और जेल भी जा चुकी है. देश में कई सारी हत्या ऑपरेशन जिसमें पुलिस और सामान्य नागरिक मारे गए हैं, इन सभी में मिलिंद की संलिप्तिता थी. दशक भर में हुई कई हत्याओं के लिए भी ये जिम्मेदार था. एल्गार परिषद के फरार आरोपियों में से एक था, जिस पर 50 लाख का इनाम था. 

जिला पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल ने बताया था, “मुठभेड़ शनिवार सुबह मर्दिनटोला वन क्षेत्र के कोरची में हुई, जब सी-60 पुलिस कमांडो की एक टीम अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सौम्या मुंडे के नेतृत्व में तलाशी अभियान चला रही थी.” वहीं, इस कार्रवाई में चार पुलिसकर्मी भी गंभीर रूप से घायल हो गए और उन्हें इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से नागपुर ले जाया गया. यह जिला छत्तीसढ़ की सीमा पर स्थित है. 

जिला पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल ने शनिवार को बताया था, “हमें जंगल से अभी तक 26 नक्सलियों के शव मिले हैं.” सूत्रों के मुताबिक, मारे गए नक्सलियों की पहचान का अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन मृतकों में नक्सलियों के एक प्रमुख नेता के भी शामिल होने का संभावना है. बता दें कि नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन के लिए बनाई गई सी- 60 यूनिट का ये अब तक का सबसे सफल ऑपरेशन है. सर्च ऑपरेशन के दौरान पुलिस को वहां से बड़े पैमाने पर हथियार और नक्सल साहित्य मिले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x