• राजस्थान से रामस्वरूप् रावतसरे


जयपुरः श्रद्धा हत्याकांड के बाद पूरा देश गुस्से में है। ‘लव जिहाद’ और निर्मम हत्या के इस मामले में जहाँ एक ओर हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं और हत्या के आरोपित आफताब का नार्काे टेस्ट भी होना है, वहीं दूसरी ओर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने श्रद्धा की हत्या को ‘सामान्य घटना’ बताते हुए, इसमें लव जिहाद के एंगल इनकार किया है।


न्यूज एजेंसी एएनआई से हुई बातचीत में अशोक गहलोत ने कहा है, “यह एक दुर्घटना है। ये तो नाम दे दिए गए हैं, जुमले गढ़ दिए गए हैं। आप इसे किसी भी रूप में ले लीजिए। ये कोई नई बात नहीं है, सदियों से अंतरजातीय-अंतरधार्मिक विवाह होते रहे हैं।”


अशोक गहलोत ने आगे कहा, “एक कौम को टारगेट बना दिया गया है। उसके आधार पर देश के अंदर राजनीति चल रही है, जिसका फायदा आपको मिल रहा है। धर्म के नाम पर जाति के नाम पर इकट्ठा करना हो या संगठित करना हो या फिर भीड़ इकट्ठा करना हो तो बड़ा आसान काम है। आग लगाना बड़ा आसान काम है। बिल्डिंग बनाने में टाइम लगता है, गिराना हो तो गिरा दीजिए आराम से गिर जाएगी।”


श्रद्धा हत्या काण्ड के मामले में पुलिस हत्यारोपित आफताब अमीन पूनावाला से लगातार पूछताछ कर रही है। यही नहीं, सोमवार (11 नवंबर, 2022) को उसका नार्काे टेस्ट भी होना था। हालाँकि, कुछ परीक्षणों में खामी मिलने के कारण ये नहीं हो पाया है। पुलिस आफताब को महरौली के जंगल से लेकर उस तालाब तक लेकर गई थी, जहाँ आफताब ने श्रद्धा के शरीर के टुकड़े फेंके थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here