• राजस्थान से रामस्वरूप रावतसरे

जयपुरः चित्तौड़गढ़ जिला पुलिस ने शनिवार को फर्जी रूप से चलाए जा रहे कस्टमर केयर कॉल सेंटर पर छापा मारा। वहां से 16 युवकों को गिरफ्तार किया, जो अमेजोन कंपनी के कस्टमर सर्विस बनकर अमेरिकन नागरिकों को ठगने में लगे थे। पकड़े गए आरोपितों में उदयपुर, चित्तौड़गढ़ के युवाओं के अलावा नागालैण्ड, असम, मेघालय, अजमेर और मुंबई के युवा शामिल हैं। ये आरोपित टेक्सटनाउ एप के जरिए अमेरिकन्स को डरा धमकाकर कर उनसे पैसा मंगाते थे। इन आरोपितों के तार दिल्ली से जुड़े होने की जानकारी भी मिली है।

थानाधिकारी विक्रम सिंह ने बताया कि आराोपित यूएस के लोगों को अमेजोन से माल डिलीवरी करने और डिलीवरी कैंसिल कराने का झांसा देते थे। साथ ही कस्टमर जब बात नहीं मानते तो उन्हें भारी राशि का नुकसान होने की बात कहकर डराते हैं। उन पर गिफ्ट कार्ड खरीदने के लिए दबाब बनाया जाता। उक्त कॉल सेंटर गोपाल नगर स्थित होटल धनुष में ऊपर बने हॉल में चल रहा था। जहां से बड़ी मात्रा में इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट्स और संचार साधन भी बरामद किए। जब कॉल सेंटर पर छापा मारा गया तो वहां काउंटर पर बैठे सभी लड़के हेडफोन से इंग्लिश में बातचीत कर रहे थे। आरोपितों से इंटरनेशनल कॉल करने का लाइसेंस पूछा गया तो इनके पास कोई लाइसेंस नहीं था।

आरोपितों में नवी मुंबई निवासी प्रेम सिंह पुत्र बलवंत सिंह राजपूत, अंबामाता, उदयपुर निवासी मोहम्मद नजीब पुत्र मुजफ्फर अहमद, गुवाहाटी, असम निवासी उर्फ रोबिन सिंह पुत्र अशोक सिंह भल्ला, नागालैंड निवासी जिन्यापा बुघो उर्फ जैक पुत्र तेलु चुघो, नागालैंड निवासी डेविड पुत्र नॉथम कोन्याक, मुंबई वेस्ट निवासी रोहित पुत्र विनोद परिहार, नागालैंड निवासी जैनी थुंग पुत्र मालामो किथोन, नवी मुंबई निवासी जछरियह एक्का उर्फ जैक पुत्र सुरेश एक्का, नागालैंड निवासी अविनाश चौधरी पुत्र उमेश चौधरी, मेघालय निवासी किरण सुबा पुत्र राजबहादुर सुबा, नागालैंड निवासी अपान कोनियाक पुत्र जैवॉग कोनियाक, नागालैंड निवासी जिरी पुत्र विपिन, मुंबई निवासी अभिजीत पुत्र अर्जुन सिरवाले, उदयपुर निवासी सिराजुल हक पुत्र जाकिर हुसैन, अजमेर निवासी लखन टेलर पुत्र कैलाश टेलर और दीमापुर निवासी लिथन अंगामी पुत्र वोचुथंग अंगामी शामिल हैं।

ये सभी आरोपित शाम 6 बजे से सुबह के 6 बजे तक ही कॉल सेंटर पर काम करते थे। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला कि इनके तार दिल्ली से भी जुड़े हुए हैं। पुलिस ने कॉल सेंटर से 19 सीपीयू, 3 मोबाइल, एक लैपटॉप, जिसमें एक एप डाउनलोडर, रेड नेट राउटर, वाईफाई, सीसीटीवी कैमरा जब्त किए। पूछताछ में यह भी पता चला कि कॉल सेंटर का मालिक उदयपुर निवासी प्रसून्न उर्फ प्रशांत और लाला उर्फ शरीफ खान पुत्र बाबू खान पठान, चित्तौड़गढ़ निवासी सचिन बैरागी और होटल मालिक साजन बैरागी उर्फ रोहित पुत्र श्याम दास बैरागी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *